शक्तिमान,वर्तमान !

https://awrighting.blog

भूतकाल,भविष्य, वर्तमानकाल,ये अलग अलग अवस्था को दर्शाते है!बीता हुआ कल या आनेवाला पल दोनों ही वर्तमान काल है इन दोनों का आधार ही वर्तमान समय है!

मनुष्य का मन बीते हुए कल को भी वर्तमान में जीने की कोसिस करता रहता है!इसी लिए वो दुखी रहता है अथवा भविष्य की चिंता में मग्न रहता है!यदि आप बीते हुए कल को वर्तमान में बार बार लाकर सोचते रहते है तो आप बीते कल को फिर से जीने की कोशिस करते है!भूतकाल यानि जो मर चूका है उसे बार बार जीवित करने में लगे रहते है !

इस पल में आप कहा है भूतकाल में या भविष्य काल में
भविष्य काल तो ठीक है भूत काल में रहना सर्वथा अनुचित है जब हम भविष्य के खयालो में खोये होते है या किसी रचनात्मक कल्पना में डूबे होते है तो हम भविष्य काल में होते है!और जब बीते हुए कल को सोचते है…

View original post 721 more words